Success Mantra: कम्फर्ट जोन ही आपकी सफलता के रास्ते में बाधा

Success Mantra: कम्फर्ट जोन ही आपकी सफलता के रास्ते में बाधा

हर व्यक्ति जीवन में सफलता हासिल कर सकता है लेकिन कम्फर्ट जोन से बाहर जाने का डर उसे कामयाब व्यक्ति नहीं बनने देता। अगर आप भी एक सफल व्यक्ति बनना चाहते है तो आपको जीवन में जोखिम उठाना होगा या कहें आपको अपने कम्फर्ट जोन से बाहर जाना होगा।

third party image

जापान एक छोटा सा देख है वहां के लोगों के बारे में अक्सर कहा जाता है कि वे लोग बहुत ही मेहनती और जीवन में सफल होते है शायद यहीं कारण है कि इतने बड़े भारत में बहुत सी चीजें जापान की बनी हुई बिकती है और भारत वासी उसे पसंद करते है। जापानी लोग दिखने में छोटे कद के होते है लेकिन वे सफलता पाने के लिए अपने को किसी सीमित दायरे में रखना पसंद नहीं करते। जब भी मौका मिलता है वे अपने दायरे को बढ़ा लेते है जिसके कारण उनकी सफलता उस घेरे में आ जाती है और वे एक सफल इंसान बन पाते है।
ये लोग किसी भी कार्य को करते हुए जोखिम उठाते है अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकल कर उस कार्य को पूर्ण करते है। और इसके लिए वे घबराते नहीं है।

जापान के लोग ताजा मछली खाना बहुत पसंद करते हैं। लेकिन जब जापान के आसपास के समुद्र तट पर ज्यादा मछलियों की संख्या कम होने लगी तो उनके लिए ताजा मछलियां लाना मुश्किल होने लगा। लिहाजा मछुआरे ताजा मछलियों के लिए नौकाएं समुद्र में दूर तक ले जाने लगे। यही नहीं नौकाओं का साइज भी बड़ा होता जा रहा था। इतनी मेहनत के बावजूद परेशानी यह थी कि मछलियां वापस लेकर आने में वक्त लगता था। इसके कारण मछलियां बासी हो जाती थीं और ग्राहकों को पसंद नहीं आती थीं।

यह भी – वजन कम करने के अचूक उपाय

मछुआरों की समस्या जस की तस थी। इसके निपटारे के लिए जापानी मछुआरों ने एक ऐसा फ्रीजर ईजाद किया जो नौकाओं में ही फिट हो जाया करता था। फिशिंग बोट में इस फ्रीजर के भीतर मछलियों को रखा जा सकता था। मछुआरे खूब खुश हुए। लेकिन कुछ समय बाद लोगों को इतने अधिक समय तक फ्रिजर में रखी हुई मछलियों का स्वाद बदला बदला सा लगता था। उन्हें यह मछलियां भाती नहीं थीं। उसमें ताजगी नहीं थी।

जापानी बुद्धिजीवियों ने इस समस्या का भी हल निकाल लिया। उन्होंने नौकाओं में ही मछली घर बनवा लिए। मछलियों को समुद्र जैसा माहौल दिया। लेकिन इस घर में मछलियां कुछ समय के लिए हिलती थी फिर बेजान हो जाया करती थीं।

यह भी पढे- महिलाओं के लिए घरेलू बिजनेस आइडिया

इसके बाद जापानी बुद्धिजीवियों ने और दिमाग लगाया। उन्होंने इस मछली घर में एक छोटी से शार्क डालना शुरू कर दिया। मछलियां अपनी रक्षा के लिए इधर उधर भागती हैं और इस तरह से वह पूरी तरह एक्टिव रहती हैं और बेजान नहीं होतीं। शार्क कुछ मछलियों को खा जरूर जाती हैं लेकिन ज्यादातर मछलियां ताजा हालत में जापान पहुंचती हैं।

अत: आपको समझना होगा कि कामयाबी और आपके बीच में कम्फर्ट जोन एक बाधा है जिसे पार करने के पश्चात ही आप कुछ कर सकते है।
इसके लिए आप ये टिप्स अपना सकते है

सफलता के लिए कम्फर्ट जोन से बाहर निकलें और नया सीखने के लिए तैयार रहें

हर समय आपको कुछ नया सीखते रहना चाहिए नहीं तो कुछ समय बाद आप पुराने हो जाओंगे और आपकी अहमियत खत्म हो जाएगी। हर दस साल में समय बदल रहा है। जैसे कि पहले कुछ लोग स्कूटर रिपेयर का कार्य करते थे। उस समय वे बहुत अच्छा पैसा कमाते थे लेकिन उन्होंने अपने आप को नहीं बदला और कुछ नया सीखने की कोशिश नहीं की । लेकिन कुछ लोगों ने नया सीखते हुए बाईक, स्कूटी आदि का काम सीख लिया लेकिन समय तेजी से बदला तो आज आप देख सकते है कि स्कूटर मरम्मत का काम बिल्कुल खत्म हो चुका है लेकिन जिन्होंने अपने आप को अपटेड किया । अपने कम्फर्ट जोन से बाहर आकर बाईक आदि रिपेयर का काम सीखा वे आज भी बाजार में अच्छा कमा रहें है लेकिन स्कूटर रिपेयर करने वालों के आगे जीवन यापन की मुसीबत खड़ी हो गई है। आप भी अपने आस पास ऐसे कई उदाहरण देख सकते है।

हर चुनौती का एक समाधान होता है, इससे जूझने का मजा लें तभी सफलता मिलती है

जीवन संघर्ष का नाम है। जीवन में हर समय चुनौती आती है। बचपन में चलना सीखने की चुनौती, उसके बाद पढ़ने की चुनौती, उसके बाद कॉलेज की चुनौती, उसके बाद जॉब की चुनौती यहां तक की आपकी शादी भी चुनौतियों का सामना करने के बाद हुई होगी ना जाने कितने लड़के और लड़कियां देखे होगे उसके बाद ही आपको कोई पसंद आया होगा तो इस लिए आप हमेशा चुनौतियों का सामना कीजिए। चुनौतियां आपको मजबूत बनाती है। चुनौतियों को आना ही है आपके जीवन में अब आपके ऊपर है कि आप उसे मजा लेकर जुझते है या फिर रो कर। हां चुनौतियों का स्वरूप अलग अलग हो सकता है। लेकिन अगर आप अपने कम्फर्ट जोन से बाहर निकलेगे तो आपके सामने चुनौतियां भी बड़ी आएगी और उसके बाद आपको सफलता भी बड़ी हासिल होगी।

हर मुश्किल ही एक नई सोच, नए विचार और नए आविष्कार को जन्म देती है

हर मुश्किल अपने साथ समाधान और अनुभव लेकर आती है। इस लिए मुश्किलों से घबराएं नहीं बल्कि बहादुरी से उनका सामना करें। क्योंकि जब आप मुश्किल के बारे में सोचोगे तो उससे आपके सामने नई सोच उभरेगी और इससे नए रास्ते खुलेगे। साथ ही आपको अनुभव प्राप्त होगा जिससे आप अपने आने वाली पीढ़ियों को रास्ता दिखाने का काम करोगे। इस लिए मुश्किलों से कभी घबराना नहीं चाहिए।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *